सर्दियों में बालो की देखभाल

ठंढ हवाओं के चलते सर की त्वचा शुष्क और बेजान हो जाते है, जिससे बालों की जड़ें कमजोर हो जाती है, वे टूटने लगती है. और भी कई कारन है, जिनकी वजह से बालों को नुक्सान पहुँचता है, इसीलिए सर्दी के मौसम में बालों की ज्यादा देखभाल की जरुरत होती है. आमतौर पर लोग समस्या से छुटकारा पाने के लिए  केमिकल प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते है, लेकिन उससे होता कुछ भी नहीं. यदि एक प्रॉब्लम ख़त्म तो दूसरा शुरू. आज के इस पोस्ट की मदद से हम ये जानेंगे की कैसे कुछ घरेलु उपचार से हम सर्दी के मौसम में भी अपने बालो का अच्छे से केयर करके उसे स्वस्थ और सेहतमंद रख सकते है. HindiCloud.Com पर जो भी जानकारी शेयर की जा रही है, उसके पीछे सिर्फ और सिर्फ एक ही मकसद है, हमारे रीडर्स को सही और पूरी जानकारी मिल सके.

बालो को तेल से मालिश करने के फायदे

  • इन दिनों खुश्की की वजह से बालो में आद्रता तथा तैलीयपन में कमी आ जाती है. जिससे बालो में पोषाहार की जरुरत ज्यादा बढ़ जाती है. नारियल तेल से बालो को पोषण  मिलता है, इसीलिए नारियल तेल को हल्का सा गुनगुना करके हल्के हाथो से मालिश करने से बालो की कोशिकाओं में खून का संचारण बढ़ जाता है.
  • बालो को तेल से मालिश करने के लिए  फिंगर टिप्स की मदद से पुरे स्कैल्प पर हल्के हाथों से मसाज करे. तेल पुरे बालो में लगाने के बाद बालो को अच्छे से बांधकर, तेल को रातभर बालो में लगा रहने दे. अगले दिन सुबह ताजा  गुनगुने पानी से धो ले.
  • हफ्ते में 2-3 बार जैतून, तिल या बादाम के तेल में नींबू के रस मिलाकर बालो के नियमित मसाज करने के बालों  की नमी बरक़रार रहती है. बालो की जड़ें मजबूत होती है, तथा बाल घने व काले बने रहते है.

हेयर ड्रायर से रहे दूर

  • यदि आप हेयर ड्रायर का उपयोग करते है तो सर्दियों में इसे बंद कर दे. बालो को प्राकृतिक तौर पर सूखने दे.
  • सर्दियों में हीटर ब्लोअर का ज्यादा उपयोग करने से घर के वातावरण की नमी में कमी आ जाती है, जिससे बालों का टूटना शुरू हो जाता है. ज्यादा गर्म पानी से नहाना भी बालों के लिए हानिकारक है. इस मौसम में सामान्य या फिर  हल्का गुनगुना पानी से बालों को धोएं।

कुछ घरेलु उपचार

  • आँवला तथा एलोवेरा के रस लगाने से बालों में चमक आती है रुसी की समस्या ख़त्म होती है. बालों की जड़ें मजबूत होती है. आवंला के जूस बाल पर लगाने से बाल घने व काले होते है तथा बालों को पर्याप्त पोषण मिलता है.
  • बाल प्रोटीन से बने होते है इसीलिए हमें अपने बालों को प्रोटीन की जरुरत को पूरा करने के लिए अपने डाइट में दूध, दाल अनाज, सोयाबीन , अंडे, पनीर आदि प्रोटीनयुक्त पदार्थ शामिल करना चाहिए.
    एक कप आँवला पाउडर, दो चम्मच कैस्टर आयल तथा एक अंडे का पेस्ट बनाकर स्कैल्प से लेकर पुरे बालों में लगाने से बालों में  प्रोटीन की कमी पूरी होने के साथ पोषण भी मिलता है.
  • यदि आप डैंड्रफ से परेशान है तो 1 कप दही में 2-3 निम्बू का रस निचोड़ कर पेस्ट बना लीजिये. अब इस पेस्ट को पुरे बालों के जड़ में लगाकर 15-20 मिनट  तक मसाज करने के बाद 45 मिनट बाद बालों को हल्के गुनगुने पानी से धो ले इससे डैंड्रफ के साथ रूखेपन की समस्या भी ख़त्म हो जायेगी.
  • मेथी से भी बालों की प्रॉब्लम सॉल्व होती है. यदि आपके बाल बहुत टूट रहे है तो आप मेथी दाना का इस्तेमाल कर सकते है. 1 कप मेथी दाना को रातभर पानी में भिगोकर रख दे, अगले सुबह उसका पेस्ट बना कर उसमे 2 चम्मच दही, 1 चम्मच जैतून का तेल मिलाकर उस पेस्ट को पुरे स्कैल्प पर लगाकर अच्छे से मसाज कर ले. इससे बालों का टूटना बंद होगा, बालों में चमक भी आएगी और बालों को अच्छी पोषण भी मिलेगी।
  • शैम्पू का इस्तेमाल कम करे, हफ्ते में 2-3 दिन शैम्पू करे. बालों को नियमित तौर पर कंडीश्निंग की जरुरत होती है. हेयर सीरम तथा हेयर कंडीशनर से बाल मुलायम होते है तथा इसकी बनावट में चमक आ जाती है.दो मुंहे तथा भुरभुरे बालों के लिए, शुद्ध बादाम तेल में ग्लिसरीन मिलाकर लगाने से इस समस्या से छुटकारा मिलेगी.
    एक कप दूध में १ अंडा को फेंटकर इस मिश्रण को स्कैल्प पर लगाने से बालों को पोषण मिलता है, बाल मुलायम होते है(यदि नारियल का दूध हो तो सबसे अच्छा).

इस तरह के कुछ घरेलु नुस्खे अपनाकर इस सर्दी के मौसम में भी आप अपने बालों का अच्छे से ध्यान रख सकते है, उसे मेंटेन कर सकते है. इन इस्तेमालों  से आपके बालों की नमी बरक़रार रहेगी, आपके बाल स्वस्थ और सेहतमंद रहेगा.

उम्मीद है, यह जानकारी आपके लिए फायदेमन्द साबित होगी। ऐसी ही जानकारी के लिए HindiCloud.Com लगातार पढ़ते रहिये। इस जानकारी से सम्बंधित कोई सुझाव, शिकायत  पूछना चाहते हो तो निचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं .

People May Also Search hair care in winter in hindi, hair care tips in hindi, sardi me balo ki care, how to care hair in winter home remedies

About the Author: Juhi Mishra

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *